पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स – व्यक्तित्व को निखारने के आसान उपाय

0
371
Personality Development in Hindi
Image Source ="Pixabay.com"

हमारे आसपास कई लोग मौजूद है। हर किसी का अपना अलग रवैया, बातचीत करने और रहने का तरीका है। इन सभी लोगो में से कुछ लोग ऐसे होते है जो हमे आकर्षित करते है। यह लोग भीड़ से अलग रहते है।

इन सबके पीछे का कारण है उनका खास व्यक्तिव। यही वजह है की यह लोग ना केवल हमे बल्कि हर किसी को अच्छे लगते है। सब इन्हे पसंद करते है, इनकी तारीफे करते है।

यह सब देखकर हमे लगता है की काश हम भी इनके जैसे होते। अपनी पर्सनालिटी को डेवेलप करके आप भी आकर्षक बन सकते है। अच्छी पर्सनालिटी किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व को खास बनाने में अहम भूमिका निभाती है।

क्या होता है पर्सनालिटी डेवेलपमेंट?

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट का हिन्दी अर्थ होता है व्यक्तित्व विकास। पर्सनालिटी को डेवलप करना मतलब भीतरी और बाहरी दोनो और से स्वयं को संवारना, अपने जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाना आदि।

हर व्यक्ति के व्यक्तित्व को विकसित किया जा सकता है। इस प्रक्रिया में कई चीज़े शामिल है। जैसे आत्मविश्वास को बढ़ाना, ज्ञान बढ़ाना, अच्छा शिष्टाचार, सोच में सकारात्मकता साथ ही साथ दिखने तथा बातचीत के तरीके में कौशल होना होता है।

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट एक ऐसी प्रोसेस है जिसमे पर्सनालिटी को आकर्षक बनाने का काम किया जाता है। इसके चलते व्यक्ति को आत्मविश्वास तथा आत्म सम्मान हासिल करने में मदद मिलती है

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट का महत्व

  • इससे व्यक्तित्व निखरता है, जिससे व्यक्ति खुद की एक अलग छाप छोड़ता है।
  • यह आपके तनाव तथा संघर्ष को कम करने में मदद करता है।
  • इससे आपके अंदर सकारात्मक दृष्टिकोण का विकास होता है।
  • पर्सनालिटी डेवेलपमेंट से आपके अंदर आत्मविश्वास आता है। आप जहा भी जाते है आपकी सराहना की जाती है और आपको सम्मान मिलता है।
  • इससे व्यक्ति के अंदर अच्छे गुण आते है जैसे समय का पालन, पॉज़िटिव attitude, सीखने की इच्छा, दोस्ताना स्वभाव, दूसरो की मदद करने की उत्सुकता आदि।

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट में कितना समय लगता है

हम सभी जानते है की सीखना शब्द जहा आता है, वहा कोई अंत नही है। हमारा सीखना कभी ख़तम नही हो सकता, यह कभी ना ख़त्म होने वाली प्रक्रिया है, और हमारे पास हमेशा सीखने के लिए स्कोप रहता है।

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट भी ऐसा ही है। इसे आप जितना सीखते जाए, सिख सकते है। यह कोई एक दो-दिन की बात नही है। इसमे काफ़ी वक्त लगता है। लेकिन जितना आप आगे बढ़ते जाते है आपमे परिवर्तन नज़र आते जाता है।

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट के लिए बहुत सारी क्लासेज होती है। आप चाहे तो इन्हे ज्वाइन कर सकते है। वहा आपको आपकी पर्सनालिटी को अच्छा बनाने के लिए हर गुर सिखाए जाते है। आप देखेंगे की 1-2 महीने में भी आपमे काफ़ी बदलाव नज़र आने लगता है। यदि आप क्लासेज नही भी जाना चाहते है तो कोई बात नही हम आपको नीचे कुछ टेक्नीक्स बता रहे है, जिसे आप खुद भी ट्राय कर सकते है।

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट टिप्स:-

अपना पहनावा अच्छा रखे

सपोज़ कीजिए आप किसी अच्छी कंपनी में इंटरव्यूअर  है। आपके सामने दो लोग इंटरव्यू देने आए। दोनो का नालेज लेवल बिल्कुल सेम है। दो में से एक व्यक्ति ने प्रेस करे हुए कपड़े पहने है, शर्ट का रंग लाइट है और अच्छे से इन की हुई है, जुतो में पोलिश है।

वही दूसरे व्यक्ति ने रंग बिरंगे कपड़े पहने है। साथ ही पैरो में सैंडल पहन रखी है। अब आप बताइए आप दोनो में से किसको चुनेंगे? सीधी सी बात है पहले वाले को।

याने की आपकी पर्सनालिटी को आकर्षक दिखाने में आपके कपड़े भी अहम भूमिका निभाते है। इसका मतलब यह नही है की आप महंगे महंगे कपड़े ले आए। इसका तात्पर्य यह है की आपको समय के अनुरूप कपड़े पहनना है, साफ़ सुथरे धुले कपड़े पहनना है। और थोड़े अच्छे कपड़े पहनने है। और इस चीज़ के लिए आप थोड़ा खर्च करते भी है तो यकीन मानिए इसका फायदा भी आपको ही मिलेगा।

बातचीत का तरीका अच्छा बनाए

आकर्षक व्यक्तित्व वाले व्यक्ति को सभी से सराहना और सम्मान मिलता है। बातचीत करने का प्रभावी तरीका, पर्सनालिटी में चार चाँद लगा देता है। आपका बातचीत का तरीका कैसा है यह चीज़ बहुत मायने रखती है।

यदि आप बहुत अच्छे से अपना मेसेज कनवे करते है, तो लोगो को आपकी बात हमेशा याद रहती है। इसलिए आपको यह अच्छे से आना चाहिए। आप चाहे तो कम्यूनिकेशन स्किल्स की क्लासेज लगा सकते है। वहा आपको बोलने का तरीका, अच्छे वर्ड्स का इस्तेमाल और बोलते वक्त कॉन्फिडेंट कैसे रहे सभी बताया जाता है।

मुश्किल परिस्तिथि से से घबराए नही

बहुत से लोगो का पहनावा अच्छा होता है, बातचीत करने का तरीका भी अच्छा होता है और बाहर से देखने में उनकी पर्सनालिटी काफ़ी अच्छी भी नज़र आती है।

लेकिन मुसीबत आने पर कुछ लोग हिल जाते है। यदि आप सूट बूट पहन कर अच्छे तो दिखते है, लेकिन मुसीबत आने पर घबरा जाते है तो इसे एक अच्छी पर्सनालिटी नही कहा जाता है। हमने उपर ही कहा था की

पर्सनालिटी डेवेलपमेंट का अर्थ भीतरी और बाहरी दोनो तरफ से अपने उपर कार्य करना है

इसलिए मुश्किल पढ़ने पर भी आपको घबराना नही चाहिए। जब भी कोई परेशानी आ जाए तो टेंशन में आने की बजाय उससे निपटने का हल ढूंढना चाहिए।

खुश रहे, स्माइल करे

खुश रहना भी एक आकर्षक व्यक्ति की निशानी है। जो लोग उल्लासपूर्ण रहते है वी सभी को पसंद आते है। इसलिए हर चीज़ में खुशी ढूँडने का प्रयास करे।

जब आप किसी को देखते है तो स्माइल पास करे। क्योकि एक फ्लेट फेस की जगह एक हस्ता हुआ चेहरा देखना लोगो को ज़्यादा पसंद आता है। जब आप ऐसा करेंगे तो रिटर्न में आपको भी स्माइल ही मिलेगी। हो सकता है की कुछ केसेस में ऐसा ना भी हो, लेकिन वैसे लोगो की परवाह किए बिना आप अपना काम करते जाए।

इसके अलावा कुछ और Basic Key Points जो आपकी पर्सनालिटी को इंप्रूव करने में मदद करेंगे:-

हमेशा सकारात्मक सोचे

  1. रोज न्यूसपेपर में कुछ आर्टिकल्स को ज़ोर ज़ोर से पढ़े। इससे आपका कम्यूनिकेशन अच्छा होगा।
  2. इंटरनेट की मदद से टेबल और डाइनिंग मैनर्स सीखे की कैसे बैठना चाहिए, कैसे खाना चाहिए आदि।
  3. अपने स्वास्थ्य का हमेशा ख़याल रखे। यह सबसे ज़्यादा ज़रूरी है।
  4. एक पेपर पर अपनी स्ट्रेंथ और वीकनेस लिखे। अब जो भी वीकनेस है उन पर काम करना शुरू कर दे।
  5. हमेशा एक जैसी जिंदगी न जिए। कुछ ना कुछ क्रिएटिव करते रहे।
  6. अपनी नेटवर्किंग को बढ़ाए। हमेशा नये लोगो से मिलते रहने से कुछ न कुछ नया सीखने को मिलता है।

हमे जिंदगी एक बार मिली है और हमे इसे अच्छे से जीना है। आपकी यह जिंदगी कही यू ही ना गुजर जाए। इसके लिए खुद पर काम करे। उपर बताई गयी जानकारी और की पायंट्स से आपको मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here