प्रोडक्टिविटी कैसे बढ़ाये – जीवन में कुछ कर दिखाने का उद्देश्य रखने वाले जरूर पढ़े

1
205
How to Increase Productivity
Image Source="Pixabay.com"

कई बार ऐसा होता है की हमे लगता है कि कितना समय निकल गया और हम आज भी वही है। शायद सब सही से किया होता तो आज कहा होते। और ऐसा सोचकर बस हम दुखी हो जाते है।

और यह दुख बस एक दिन का ही होता है और दूसरे दिन से बस वही कहानी, रोज जैसी जिंदगी। पर क्या आपने कभी बैठ कर गौर किया की जिस वजह से आप दुखी हुए उसके पीछे का कारण क्या था?

दरहसल समय का सही इस्तेमाल ना कर पाने के कारण भी हम पीछे रह जाते है। एक इंसान को आगे बढ़ने के लिए एक साथ कई काम करने होते है।

ऐसी बाते पढ़कर अधिकांश लोगो का कहना होता है की हम तो पूरा दिन ही काम करते है, अलग कुछ करने का वक्त ही नही मिलता वगेरह वगेरह। लेकिन यही तो वो बाते है जो आपको पीछे छोड़ देती है। आपको बता दे की वक्त सभी के पास एक जैसा है। और इसी वक्त में से जो लोग वक्त निकाल लेते है कुछ और काम करने या किसी और चीज़ के लिए वो आगे बढ़ जाते है।

यदि आप भी समय बर्बाद नही करना चाहते, कम से कम समय में ज़्यादा करना चाहते है, समय की रिस्पेक्ट करना चाहते है तो इसके लिए आपको प्रोडक्टिव बनना पढ़ेगा।

क्या होता है Productiveness?

Productiveness (उत्पादिता) की बात करे तो कम समय में ज़्यादा चीज़े करना। यह शायद आपको ऐसे नही समझ आएगा इसके लिए में आपको एक उदहारण देना चाहूँगी।

जैसे की यदि में एक आर्टिकल राइटर हु। मेरी क्षमता 1 घंटे में 1 लेख लिखने की है। में रोजाना 6 घंटे काम करती हू। मेरे 1 लेख लिखने के मुझे 100 rs चार्ज मिलता है। याने की मेरी 6 घंटे की कमाई हुई 600 rs.

लेकिन यदि में अपनी स्पीड पर काम करू और हर घंटे में केवल 10 मिनिट बचालु। तो में 6 घंटे के बजाय 5 घंटे में 600 rs कमा सकती हू। अब बचे हुए वक्त को में किसी और काम में इस्तेमाल कर सकती हू, या फिर एक और लेख लिखकर उतने ही समय में ज़्यादा पैसा कमा सकती हू।

यह केवल एक उदाहरण था। प्रोडक्टिविटी को समझने के लिए।प्रोडक्टिव बनने के लिए आपको पूरे दिनचर्या पर काम करना होता है।

अच्छी प्लानिंग और टाइम मेनेजमेंट से आप बन सकते है प्रोडक्टिव

उपर बताई गयी बाते पढ़कर आप यही सोच रहे होंगे की यह कैसे मुमकिन है। तो में आपको बताना चाहती हू की प्रोडक्टिविटी लाना कोई बहुत बढ़ा रॉकेट साइन्स नही है। आप किस तरह से अपना टाइम मैनेज करते है, इससे बहुत फरक पढ़ता है। स्मार्टर तरीके अपनाकर आप प्रोडक्टिव बन सकते है।

आइए जानते है कुछ सिंपल टिप्स जो आपको प्रोडक्टिव बनने में मदद करती है;-

लिस्ट और प्लानिंग है ज़रूरी

आप दूसरे दिन जो भी काम करने वाले है उसकी प्लानिंग आज रात को सोने से पहले ही करले। क्योकि सुबह सुबह हमारे अंदर बहुत एनर्जी होती है। तो उस वक्त को हमे काम करने में यूटिलाइज़ करना है ना की सोचने में की आज क्या करना है?

इसके अलावा हमने लिस्ट बनाने का इसलिए बोला है, क्योकि बहुत बार ऐसा होता है की हम रात को प्लानिंग तो कर लेते है लेकिन सुबह उठकर आधी बाते सपाट हो जाती है। इसलिए यदि आप पेपर पर लिस्ट बना ले तो अगले दिन आपको कुछ भी रीकॉल करने में टाइम वेस्ट नही करना पढ़ेगा।

ब्रेक लेना ना भूले

Pennington Biomedical Research Center के द्वारा की गयी एक रिसर्च के अनुसार जो लोग ब्रेक नही लेते है और लगातार बैठे रहते है उन्हे हार्ट अटैक आने की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है।

लगातार बैठे रहने के कारण आपके शरीर में LPL level डाउन होने लगता है। लपल एक ऐसा एन्ज़ाइम है जो फैट को रक्त में कनवर्ट करता है और रक्त को एनर्जी में।

जो लोग बिना मूवमेंट करे 8 से 10 घंटे तक बैठे रहना का काम करते है, उनमे एनर्जी बहुत कम होती जाती है। प्रोडक्टिविटी का मतलब यह नही है की आप कितने देर डेस्क पर बैठे है। बल्कि यह है आप कितना काम करते है वो भी बिना अपनी सेहत को नुकसान पहुचाए। इसलिए बीच बीच में ब्रेक ले और थोड़ा टहल ले।

ना कहना सीखे

क्या आपका अधिकतर वक्त दूसरो के काम करने में बर्बाद हो रहा है। आपने अगर इस बात पर गौर नही किया हो तो एक बार गौर ज़रूर करे। इस बात से हमारा यह तात्पर्य नही है की आपको लोगो की मदद करना छोड़ देनी है और सेल्फिश बन जाना है।

आपने देखा होगा यदि आप कोई काम कर रहे है और उस काम को करते वक्त आपको बीच में कुछ और काम करना पढ़े, तो आपका फ्लो टूट जाता है और वापिस फ्लो में आने में आपको 15 से 20 मिनट लग जाते है।

इसलिए यदि आप कोई बहुत इम्पोर्टेन्ट काम कर रहे है और बीच में आपको उठने का मन नही है तो सामने वाले को नो कहने की आदत डाले। यह कठिन है लेकिन आपको करना होगा। सामने वाले को कहे की आप अपना काम ख़तम करके उनकी मदद करेंगे।

लेकिन कुछ परिस्तिथियों में यदि सामने वाले को आपकी मदद की बहुत ज़्यादा आव्यशकता है तो आप उस काम को करले।

सुबह जल्दी उठने की आदत डाले

जब आप लेट उठते है तो सोचते है की अब इतना तो लेट हो चुका है तो थोड़ा लेट और हो जाए तो भी क्या फ़र्क पढ़ेगा। इसलिए सुबह जल्दी उठे, ताकि आपका काम वक्त पर हो सके।

रोज सुबह व्यायाम करे

अब आप सोचेंगे की प्रोडक्टिविटी का सुबह उठने से क्या ताल्लुक है तो हम आपको बता दे की बहुत गहरा ताल्लुक है। जो लोग व्यायाम नही करते है उन्हे काम करते समय सरदर्द, थकान जैसी चीज़े होती है, जिससे काम में डिले होता है।

लेकिन यदि आप रोजाना व्यायाम करते है तो इससे स्वस्थ रहते है। जिसके चलते आपको काम के बीच में कोई परेशानी नही होती है और आपका काम बिना डिले हुए हो जाए।

मल्टीटास्किंग ना बने

Multitasking बनना कभी कभी हमारे लिए फायदेमंद भी होता है जैसे जब बर्तन धो रहे है तो वॉशिंग मशीन में कपड़े डाल दे। तो दो काम एक साथ हो जाते है।

पर यह रूल हर जगह ना दोहराए और ऑफीस वर्क में तो बिल्कुल ही नही। क्योकि इससे आपके टाइम का लॉस होता है। बहुत से लोग बोरियत से बचने के लिए तीन चार काम एक साथ करने की कोशिश करते है। ऐसा ना करते हुए एक काम को पहले ख़तम करे और फिर दूसरे को करे।

इन की पॉइंट्स को भी ध्यान रखे

  • हम जानते है की आजकल टीवी शोज बहुत अच्छे अच्छे आते है, लेकिन सोफे पर बैठकर टीवी देखते हुए आप एंपाइयर नही खड़ा कर सकते। इसलिए टीवी देखने में अपना कीमती वक्त बर्बाद ना करे।
  • यदि ऑफीस जाते आते वक्त आपको बहुत ज़्यादा रश मिलता है। तो अपने टाइम को आधा घंटा आगे पीछे करके देखे। इससे भी आपका वक्त बचेगा।
  • काम करते वक्त मोबाइल से दूरी बना ले। बीच बीच में मोबाइल देखने से वक्त पर काम नही हो पाता। फ़ेसबुक, व्हाट्सप्प देखने के लिए 15 मिनिट अलग से रख ले।

1 COMMENT

  1. Usually I don’t learn article on blogs, however I would like to say that this write-up very pressured me to
    take a look at and do it! Your writing style has been amazed me.
    Thank you, very great article.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here